सोमवार, 23 अगस्त 2010

देश के पूर्व व वर्तमान अधिकारी भी मानते हैं क़ी भ्रष्टाचार के खिलाप आवाज को ह़र गांव में बुलंद करना होगा ...







कल रविवार 22/08/2010 को दिल्ली के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर लोधी रोड में INDIA REJUVENATION INITIATIVE (IRI)की मीटिंग में देश के कई  इमानदार पूर्व अधिकारी उपस्थित थे | हालांकि इस मीटिंग में सर्वोच्च न्यायालय के पूर्व  मुख्य न्यायाधीश श्री रमेश चन्द्र लाहोटी साहब और देश के इमानदार पुलिस अधिकारी श्री जसवीर सिंह जी किसी कारणवश उपस्थित नहीं हो पाये लेकिन श्री सुनील कुमार जी (IAS),श्री विजय शंकर पाण्डेय जी (IAS),श्री बी .आर .लाल(भूतपूर्व D.G.P),श्री राजू शर्मा जी (IAS),श्री जाविद चौधरी  (भूतपूर्व सचिव   भारत  सरकार ) इत्यादि  जैसे  बुद्धिजीवियों  ने देश और समाज  के प्रति अपने ईमानदारी भरे सोच से इस मीटिंग में एक ठोस रणनीति बनाने पर चर्चा किया |

इस मीटिंग में सामाजिक कायकर्ता के रूप में श्री राम बंसल जी (खंडोई,बुलंदशहर)से,श्री सुखराम कोली(एक इमानदार विधायक ,बसेरी,धौलपुर राजस्थान से ,श्री महेश मानव (अध्यक्ष आर्थिक चेतना मंच तथा सामाजिक कार्यकर्त्ता ,दिल्ली) और HPRDINDIA.ORG (HONESTY PROJECT)  के तरफ से मैं स्वयं भी उपस्थित था | 


इस मीटिंग में इस बात पर गंभीरता से चर्चा हुयी की देश में हर क्षेत्र के अच्छे,सच्चे,इमानदार और देशभक्त लोग एक होकर इस देश से भ्रष्टाचार को मिटाने तथा गरीबों तक विभिन्न योजनाओं का पैसा कैसे ईमानदारी से पंहुचे  के लिए एकसाथ काम कर सकते हैं | सभी लोग इस बात से बहुत दुखी दिखे जब मैंने कहा की बिहार के सीतामढ़ी के क्ष्रीखंडी भिट्ठा ग्राम के ग्रामीण बैंक में ग्रामीणों  के किसान ऋण पर दलालों और बैंक कर्मचारियों ने मिलकर 30 से 70 प्रतिशत तक कमीशन खाया और लिखित शिकायत करने पर भी कोई कार्यवाही नहीं हुयी और भ्रष्ट बैंक मेनेजर अभी भी उसी बैंक में कार्यरत है ,जब श्री राम बंसल जी ने यह कहा की बलात्कारी को सजा दिलाने की प्रक्रिया में उनके ऊपर ही बलात्कारी के पत्नी के द्वारा बलात्कार का झूठा आरोप लगाने की साजिश रची जाने लगी तब भी सभी सदस्य काफी अचंभित और चिंतित दिखे समाज और देश की स्थिति को जानकर |

श्री सुखराम कोली(विधायक) ने जब कहा की उनके विधायक रहते हुए भी उनके अच्छे कामों में पुलिस और प्रशासन का समुचित सहयोग नहीं मील रहा है ,गांवों में छात्र और छात्राओं को अध्यापन के लिए सहयोग नहीं दिया जाता है तो सदस्यों ने कहा की हम लोग मिलकर देखते हैं की कैसे सरकारी योजनाओं को ईमानदारी से असल जरूरतमंद तक पहुँचाया जा सकता है और हम लोग मिलकर इस दिशा में कैसे एक दुसरे को सुरक्षा व सहायता पहुंचाते हुए मजबूती से इस देश व समाज के लिए कुछ अच्छा और प्रभावी कर सकते हैं ...!

इस मीटिंग की सबसे बड़ी बात यह रही की सभी लोग इस बात पर लगभग सहमत दिखे की जमीनी स्तर यानि गांवों में भ्रष्टाचार के खिलाप आवाज को बुलंद करना होगा क्योंकि भ्रष्टाचार किया तो जाता है ऊपर के भ्रष्ट अधिकारियों और मंत्रियों द्वारा लेकिन भ्रष्टाचार के पैसे को लूटा जाता है गांवों में योजनाओं को झूठा क्रियान्वित दिखाकर ,इसलिए इसके झूठ को वहीँ से पकड़कर दोषी लोगों के खिलाप कार्यवाही की प्रक्रिया को मजबूती तथा शिकायतकर्ता को सुरक्षा देकर भ्रष्टाचार और घोटालों को कारगर तरीके से रोका जा सकता है साथ-साथ इस बात की भी जरूरत है की लोगों को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक व निडर बनाकर कर्तव्यों के प्रति लगाव भी पैदा किया जाय | 


सदस्यों ने सामाजिक कार्यों में हरसंभव सहयोग और सहायता का भी आश्वासन दिया और अपने विचारों व सुझावों का भी आदान-प्रदान किया | कुल मिलाकर इसे इस देश और समाज से भ्रष्टाचार को मिटाने तथा व्यवस्था को सही करने की दिशा में एक सराहनीय कदम कहा जा सकता है | चूँकि इस मीटिंग से समाज में जमीनी स्तर पर कार्य कर रहे लोगों की भी उपस्थिति दर्ज हुयी है (IRI) के मीटिंग में इसलिए हम आशा करते हैं की (IRI) के अगले मीटिंग में ऐसे सच्चे सामाजिक कार्यकर्ताओं की उपस्थिति बढ़ सकती है जिससे भ्रष्टाचार के खिलाप आन्दोलन को मजबूती मिलना तय है | हो सकता है की अगले मीटिंग में कुछ और ब्लोगर को भी मैं इस मीटिंग में IRI के सदस्यों के इजाजत से बुला सकूँ |

8 टिप्‍पणियां:

  1. खुदा करे, आपकी मुहिम रंग लाये. हम दुआ करते हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  2. कुछ तो करना ही होगा हमें .. रक्षाबंधन की बधाई और शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं
  3. कई पूर्व इमानदार अधिकारी ...इसे कई इमानदार पूर्व अधिकारी कह दें तो बेहतर///वरना लगता है अधिकरी तो वो अभी भी हैं मगर इमानदार पूर्व में थे और अब बेईमान हो गये हैं.


    रक्षा बंधन की हार्दिक शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  4. @ समीर जी
    धन्यवाद ,आपके सलाह पर सुधार कर दिया है ,ये सभी इमानदार पूर्व अधिकारी देश और समाज में फैले भ्रष्टाचार को मिटाने के लिए पूरी तरह समर्पित होकर काम कर रहें हैं ...इनका प्रयास बेहद सराहनीय और अनुकरणीय है ...

    @ संगीता जी

    आप मेरी बहन सामान हैं और आपने राखी की बधाई और शुभकामनाये दी है जिसे मैं हार्दिक रूप से स्वीकार करता हूँ आपको भी इस महान पर्व पर मेरी ओर से बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनायें ...

    सभी ब्लोगर भाई-बहन को भी मेरी ओर से रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनायें ओर बधाई ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. ऐसी पहलें ज़रूरी हैं - न सिर्फ समस्याओं की विविधता को समझने के लिए बल्कि उनपर संयुक्त रूप से चर्चा के लिए भी। बार-बार अगर ऐसे उपक्रम हों,तो परिवर्तन की बयार बहनी शुरू हो जाएगी।

    उत्तर देंहटाएं
  6. जागृत पटेल ने कहा
    मेरा पूरा सहयोग आपके साथ है.
    ऐसा कार्य जरूर होना चाहिए.

    उत्तर देंहटाएं
  7. mahak ji ,
    aap ji jaan se is nek kaam me jute hain sammaj
    ma jagrukta laane ke liye aapko is karya me kaamyabi mile,raxha bandhan ke is pawan parv par
    ishwar se yahi prarthana karti hun.
    poonam

    उत्तर देंहटाएं

आप अपने विचार से देश और समाज को एक नयी दिशा दे सकते हैं ...

इस ब्लॉग को पढ़ने वाले और इस वक्त पढ़ रहे लोगों के शहर की जानकारी ...