मंगलवार, 13 जुलाई 2010

HONESTY PROJECT FOR REAL DEMOCRACY IN INDIA और ग्राम पंचायत श्रीखंडी भिट्ठा,प्रखंड-सुरसंड,जिला-सीतामढ़ी,बिहार के संयुक्त प्रयास से 7/7/2010 को ग्रामसभा व आमसभा का आयोजन हुआ | प्रस्तुत है इस सभा का विवरण तस्वीरों कि नजर से .....




HONESTY ROJECT FOR REAL DEMOCRACY IN INDIA और ग्राम पंचायत श्रीखंडी भिट्ठा,प्रखंड-सुरसंड,जिला-सीतामढ़ी,बिहार के सयुक्त प्रयास से 7/7/2010 को ग्रामसभा व आमसभा का आयोजन हुआ | HONESTY PROJECT का प्रयास था कि एक शुरुआत कर दी जाय जिससे ह़र महीने ग्राम सभा कि बैठक हो और उसके द्वारा ईमानदारी से आम ग्रामवासियों के समस्याओं का समाधान हो | अब यह तो आने वाला समय ही बताएगा कि शुरुआत को अंजाम तक कैसे पहुँचाया जा सकता है .....!


प्रस्तुत है इस सभा का विवरण तस्वीरों कि नजर से --इस सभा मेंश्रीखंडी भिट्ठा ग्राम के मुखिया श्री अनिल चौधरी ,वार्ड सदस्य श्री मनोज झा,श्री उमेश कापर,श्री फूल झा तथा अन्य ग्रामीण नागरिकों  के साथ-साथ श्री प्रमोद कुमार ठाकुर व श्री मोहन प्रसाद(सच्चे समाज सेवक) इन दोनों व्यक्तियों ने इस गांव में प्रशासनिक व सामाजिक सुधार के महत्वपूर्ण कार्यों को अंजाम तक पहुँचाया है और सामाजिक न्याय तथा प्रशासनिक कमियों में सुधार  के लिए सच्चे मन से प्रयासरत हैं ,इन दोनों व्यक्तियों का जज्बा काबिले तारीफ है ,ये दोनों अब HONESTY PROJECT के स्थानीय संस्थापक सदस्य भी है ,ने भाग लिया  | इस सभा में मैं जय कुमार झा भी दिल्ली से HONESTY PROJECT के शोधकर्ता व जाँचकर्ता  के रूप में उपस्थित था | मैंने देखा कि गांवों में असल जरूरतमंद लोगों को प्रशासन से सही वक्त पे मदद नहीं मिल रही है और दलाल लोग प्रशासनिक अधिकारियों के निकम्मेपन कि वजह से भोले-भाले गांव वालों को ठग रहे हैं | इंसानियत कराह रही है जिसे सहायता और सुरक्षा पहुँचाने कि जरूरत है | 
गांव के अराध्य माँ भगवती जो पिंडी रूप में बिराजमान हैं
ये भी गांव के अराध्य ब्रह्म कि छोटी प्रतिमा है




गांव के सरपंच श्री साफी जी



गांव कि महिलाएं जिनकी छोटी-छोटी समस्याओं का समाधान भी सालों से लंबित है ..





श्री मोहन प्रसाद  (सच्चे समाज सेवक तथा HONESTY PROJECT के स्थानीय संस्थापक सदस्य )

सबसे पहले दायें से जय कुमार झा(माइक हाथ में लिए हुए) ,दूसरे श्री प्रमोद कुमार ठाकुर तथा तीसरे श्री अनिल चौधरी (मुखिया श्रीखंडी भिट्ठा और अब HONESTY PROJECT के स्थानीय संस्थापक सदस्य भी ,देखना है कि HONESTY PROJECT से जुड़ने के बाद कितनी ईमानदारी से वे ग्राम पंचायत को चलाते हैं |

श्री प्रमोद कुमार ठाकुर (सच्चे समाज सेवक तथा HONESTY PROJECT के स्थानीय संस्थापक सदस्य )

गांव कि गरीब व असहाय महिलाएं जिनका रासन कार्ड बनना है  और केरोशिन आयल नहीं  मिलने कि समस्याएं हैं |जिसका समाधान तब होगा जब इस गांव में प्रशासनिक अधिकारी आकर लोगों के समस्याओं को उनके घर जाकर सुनेंगे | ऐसा कोई भी अधिकारी करना नहीं चाहता क्योंकि उनके लिए गरीब लोगों कि जरूरतों का कोई मतलब नहीं होता है ? शर्मनाक है ऐसी अवस्था लोकतंत्र तथा नितीश जी के बिहार के लिए |

5 टिप्‍पणियां:

  1. सुन्दर सचित्र विवरण और आपके प्रयासों का आईना. समस्याओं को सुलझाना नहीं चाहते हैं अधिकारी क्योंकि समस्याओं के सुलझते ही उनकी पकड़ ढीली हो जायेगी.

    उत्तर देंहटाएं
  2. Behtreen Prayaas...... kya haal hain jha ji?

    Abhi Nani ke ghar aayaa hua hun, wapis aakar baat karta hun...

    उत्तर देंहटाएं
  3. ये आपकी जमीनी जंग है... वादों, इरादों, और केवल वक्तव्यों से परे ... बधाई

    उत्तर देंहटाएं

आप अपने विचार से देश और समाज को एक नयी दिशा दे सकते हैं ...

इस ब्लॉग को पढ़ने वाले और इस वक्त पढ़ रहे लोगों के शहर की जानकारी ...